life imprisonment escaped from train : आजीवन कारावास का कैदी ट्रेन से कूद फरार, जानें फिर क्या हुआ

life imprisonment escaped from train :

life imprisonment escaped from train :

 

 

जनधारा 24 न्यूज डेस्क। life imprisonment escaped from train :
बिलासपुर सेंट्रल बैंक में आजीवन कारावास की सजा काट रहा एक कैदी,

life imprisonment escaped from train :

जिसे दुर्ग से बिलासपुर केंद्रीय कारागार में स्थानांतरित किया गया था।

रायपुर और बिलासपुर के बीच ट्रेन से कूदकर फरार हो गया।

उसकी तलाश के लिए एक टीम गठित कर दी गई है।

उसके खिलाफ हत्या के चार मामले दर्ज हैं।

life imprisonment escaped from train: क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के चंदापुर थाने के बंदी

सुनील कुमार उर्फ ​​बालिकरण को हत्या के आरोप में 2018 में

आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

दुर्ग में लंबित मामले में उन्हें पहले जेल में रखा गया,

फिर 2021 में उन्हें बिलासपुर सेंट्रल जेल में

स्थानांतरित कर दिया गया।

इसे मंगलवार को कोर्ट में पेशी के लिए दुर्ग ले जाया गया।

उसे बुधवार शाम शिवनाथ एक्सप्रेस से

बिलासपुर लाया जा रहा था।

कैसे बहाना बनाकर हुआ फरार जानें

पुलिस अधीक्षक देवचरण मरावी और कांस्टेबल विकास कुर्रे ने

उसे हथकड़ी लगाकर अपने साथ बैठा लिया था।

ट्रेन रायपुर स्टेशन से निकल रही थी और सिलियारी के

पास उसने शौचालय जाने को कहा।

पुलिसकर्मियों ने हथकड़ी को एक-दूसरे से अलग किया

और उसे और हथकड़ी को शौचालय में भेज दिया।

शौचालय से निकलने के बाद वह सिंक में मुंह धोने लगा।

\इस बीच ट्रेन की रफ्तार थोड़ी धीमी हो गई।

मौका मिलते ही वह हथकड़ी समेत ट्रेन से कूद गया।

अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में हुआ कामयाब

पुलिस उसे लेकर नीचे कूदी और उसे पकड़ने की कोशिश की,

लेकिन वह अंधेरे में भागने में सफल रहा।

जानकारी के अनुसार कैदी के खिलाफ हत्या के चार मामले दर्ज हैं।

उसे बालिकरन की हत्या के लिए मौत की सजा सुनाई गई थी,

जिसे अपील पर आजीवन कारावास में बदल दिया गया था।

उस पर दुर्गा के अलावा गंभीर अपराधों में रायपुर में मुकदमा चल रहा है।

फिलहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए

पुलिस की कई टीमों को काम पर लगाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *