High Court dismissed the petition of Techno Printers : हाईकोर्ट ने खारिज की टेक्नो प्रिंटर्स की याचिका…. जानिए क्या है पूरा मामला

High Court dismissed the petition of Techno Printers :

High Court dismissed the petition of Techno Printers :

 

 

जनधारा 24 न्यूज़ डेस्क।  High Court dismissed the petition of Techno Printers :

छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम ने पाठ्यपुस्तकों का समय पर मुद्रण न

होने की स्थिति में तकनीकी मुद्रकों को नोटिस भेजकर

क्षतिपूर्ति के रूप में जमानत राशि एवं शेष जमा राशि वसूल

करने की चेतावनी दी है। निर्देश जारी करने के बाद पाठ्य पुस्तकों

की आपूर्ति प्रभावित होगी। टेक्नो प्रिंटर ने भी

अधिसूचना के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी,

जिसे गुरुवार को खारिज कर दिया गया।

इसी तरह के समानांतर मामले को बुधवार को

हाईकोर्ट ने भी शारदा प्रिंटर के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था।

High Court dismissed the petition of Techno Printers : क्या है पूरा मामला जानें

असल में पाठ्य पुस्तक निगम ने 2020-21 में स्कूली बच्चों को वितरित की जाने वाली

पाठ्य पुस्तकों को प्रिंट करने के लिए एक निविदा के बाद टेक्नो प्रिंट्स से

अनुबंधित किया गया था। 267. 496 मैट्रिक टन मुद्रण कार्य टेक्नो प्रिंट

को आवंटित किए गए हैं। लेकिन समय पर पुस्तक छपाई का कार्य नहीं हो सका।

ऐसे में पापुनी ने इसे दूसरे प्रिंटर्स को सौंपकर प्रिंटिंग का काम किया।

नियम के अनुसार, श्रम की अनुपलब्धता ने पुस्तकों की छपाई में

अस्थायी रूप से देरी की और आपूर्ति को प्रभावित किया

क्योंकि काम आउटसोर्स किया गया था।

पापुनि ने दिया टेक्नो प्रिंटर्स को दिया था नोटिस

इस मामले में कंपनी को पहले नोटिस जारी कर ब्लैक लिस्टेड किया गया था।

कोर्ट से राहत मिलने के बाद इस बार पापुनि ने फिर से टेक्नो प्रिंटर को नोटिस दिया,

जिस पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने किसी भी तरह से

Read More : life imprisonment escaped from train : आजीवन कारावास का कैदी ट्रेन से कूद फरार, जानें फिर क्या हुआ

दखल देने से इनकार करते हुए अर्जी खारिज कर दी। सामने और उत्तर का सामना

करना पड़ रहा है। ज्ञात हो कि निगम ने उपरोक्त अपील में सुरक्षा निधि व शेष जमा

राशि की क्षतिपूर्ति के रूप में वसूली करने की अपील की है।

मामले में याचिकाकर्ता की ओर से आशुतोष पांडेय

और कंपनी की ओर से अधिवक्ता अर्जित तिवारी पेश हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *