मटका में सीसी रोड के घटिया निर्माण से ग्रामीणों में नाराजगी,अधिकारियों की चुप्पी पर उठे सवाल

बेमेतरा: बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मटका में मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के अंतर्गत 20 लाख की लागत से निर्माणाधीन सड़क के घटिया निर्माण से ग्रामीणों में खासी नाराजगी है । आलम यह है कि निर्माण पूर्ण होने के पूर्व ही सड़क उखड़ने लगी है। अब तक करीब 100 मीटर सड़क का निर्माण पूर्ण हुआ है। इस संबंध में ग्रामीणों से शिकायत मिलने पर किसान नेता योगेश तिवारी ग्राम मटका पहुंचकर निर्माणाधीन सड़क का जायजा लिया।

पटना जा रही फ्लाइट में शराब पी रहे इंडिगो के दो यात्री गिरफ्तार

जहां ग्रामीणों की शिकायत सही मिली। ठेकेदार के द्वारा मापदंडों को ताक पर रखकर सड़क का निर्माण किया जा रहा है । घटिया निर्माण के कारण आवागमन शुरू होने के पहले ही सड़क उखड़ने लगी है। ग्रामीण मनोज यदु ने बताया कि आश्रम से लेकर बांधा तक करीब 200 मीटर सीसी रोड का निर्माण होना है। सड़क की निर्माण एजेंसी लोक निर्माण विभाग है। ग्रामीणों के द्वारा ठेका कर्मी व इंजीनियर से लगातार मौखिक शिकायत किए जाने के बावजूद घटिया निर्माण बदस्तूर जारी है। तय रेशों में मटेरियल का उपयोग नहीं किया जा रहा है। तय मात्रा से सीमेंट कम डालकर निर्माण किया जा रहा है।

आसमान से जमीन तक कोहरा ही कोहरा, ट्रेन समेत दिल्ली में 25 फ्लाइट लेट

मापदंड ताक पर, एक मीटर कम चौड़ी सड़क का निर्माण

ग्रामीण मनोज यदु के अनुसार एस्टीमेट के अनुसार सड़क की चौड़ाई 4 मीटर होनी चाहिए, लेकिन ठेकेदार के द्वारा मौके पर सिर्फ 3 मीटर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। इस संबंध में ठेका कर्मी से पूछने पर गोलमोल जवाब दिया जा रहा है । ग्रामीणों की जानकारी के लिए कंस्ट्रक्शन साइट पर सूचना बोर्ड नहीं लगाया गया है। गौरतलब हो कि सूचना बोर्ड में कार्य का नाम, एजेंसी का नाम, लागत, ठेकेदार अधिकारी का नाम, वर्क आर्डर व कार्य पूर्ण करने की अवधि अंकित रहती है । ताकि आम जनों को कार्य के संबंध सामान्य जानकारियां मिल सके, लेकिन यह भी ठेकेदार मनमानी पर उतारू है।

मुन्ना भाई MBBS में ‘डॉ. रुस्तम’ की फोटो देख पहचानना हुआ मुश्किल… फैंस हुए  शॉक

ठेकेदार व अधिकारी के सांठगांठ की खुली पोल

किसान नेता योगेश तिवारी ने बताया कि निर्माणाधीन सड़क का निरीक्षण करने पर ठेकेदार व विभाग के अधिकारियों की सांठगांठ की पोल खुल गई । घटिया निर्माण पर अधिकारियों की चुप्पी से उनकी कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं । ग्रामीणों की लगातार शिकायत के बावजूद अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं । सड़क पर हल्का सा दबाव बनाने पर सीमेंटीकरण टूटने लगा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *