बैगा के हत्या की गुत्थी सुलझी, 4 आरोपी गिरफ्तार

गरियाबंद।  गरियाबंद जिले के देवभोग थाने में ओड़िसा के बैगा की हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा लिया है। बीते 6 जनवरी को गोहरापदर के एक खलिहान में पैरा से ढका हुआ शव मिला था, जिसकी पहचान ओड़िसा के झुलनबर निवासी बैगा बिरोचरण के रूप में किया गया था।

बता दें कि  मृतक लहूलुहान था उसके शरीर में चोट के भी निशान थे। ऐसे में पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दिया।

पुलिस ने जानकारी दी कि गोहरापदर  निवासी पतिराम यादव के 13 वर्षीय बेटे की मौत जुलाई माह में हुई थी। घर के अन्य सदस्य भी बीमार रहते थे। पतिराम घर में हो रहे इस तरह की घटना को जादू टोना समझ रहा था कि किसी ने घर में तंत्र कर दिया है। ऐसे में इसे दूर करने उसने ओड़िसा के तांत्रिक बैगा से सम्पर्क किया।

बैगा ने जुलाई माह में ही तांत्रिक क्रिया कर उपाय करने का दावा किया था। बदले में उसने पतिराम से 65 हजार रुपए लिए थे। कुछ माह बाद पतिराम के परिवार में फिर से सदस्य बीमार पड़ने लगे तो उसने बैगा से रकम वापस करने की ठान लिया। बीते 2 जनवरी को बैगा अन्य घर में तांत्रिक क्रिया करने गोहरापदर पहुंचा था।

पतिराम अपने रिश्तेदार के साथ तान्त्रिक को घेर कर लाठी व लात मुक्के से पिटाई कर मौत के घाट उतार दिया। फिर शव को ले जाकर छिपा दिया था। मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *