बायर्न म्यूनिख फीफा क्लब विश्व कप के फाइनल में

दोहा। रोबटरे लेवांडोवस्की के दो गोलों की बदौलत बायर्न म्यूनिख ने सेमीफाइनल मुकाबले में अल एहली को हराकर फीफा क्लब विश्व कप के फाइनल में जगह बना ली है। बायर्न ने अल एहली को 2-0 से हराया और खिताबी मुकाबले में जगह बनायी। पिछले सत्र की यूएफा लीग की विजेता टीम का फाइनल में मुकाबला मेक्सिको की टीम टाइगर्स यूएएनएल के साथ गुरुवार को होगा।
अल एहली ने मैच की शुरुआत से ही डिफेंसिव रुख अखतियार किया लेकिन लेवांडोवस्की ने मैच के 17वें मिनट में गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिलायी। इसके बाद 37वें मिनट में एक बार फिर लेवांडोवस्की ने गोल करने की कोशिश की लेकिन कामयाब नहीं हो सके। मैच के अंतिम क्षणों में लेवांडोवस्की ने 86वें मिनट में गोल कर स्कोर 2-0 कर दिया। निर्धारित समय तक अल एहली की ओर से कोई गोल नहीं होने के कारण बायर्न म्यूनिख ने मुकाबला जीत लिया।
बुंदेसलीगा, जर्मन कप, चैंपियन्स लीग और जर्मन तथा यूरोपियन सुपर कप 2020 का खिताब जीतने के बाद बायर्न म्यूनिख एक साल के अंदर अपना छठा बड़ा खिताब जीतने की तलाश में है। बायर्न म्यूनिख इससे पहले क्लब विश्व कप और इंटरकांटिनेंटल कप का खिताब 1976, 2001 और 2013 में जीत चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed