क्या मोबाईल फोन भी सुनते हैं हमारी बात…??? आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक्सपर्ट से मिला ये जवाब

जनधारा मल्टीमीडिया समूह में हुई आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर वर्कशॉप

रायपुर| (Workshop on AI) आपने साइंस फिक्शन पर आधारित कई फिल्में देखी होंगी. कुछ लोग अपनी फैंटसी को किताबों और फिल्मों में उतारते हैं. वहीं रेयरली कुछ लोग हैं जो इन्हें हकीकत में सामने ले आते हैं, और इन्हीं की बदौलत लगातार हमारी जीवन शैली बदल रही है. इन दिनों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की काफी चर्चा हो रही है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यानि एक मशीन में सोचने-समझने और निर्णय लेने की क्षमता का विकास करना. कह सकते हैं कि ये कंप्यूटर साइंस का सबसे उन्नत रूप है –

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और इसके तहत हो रहे कार्यों को और विस्तार से समझने के लिए बात करते हैं हमारे खास मेहमान अतिन्द्र सिंह से,जो पिछले 15 सालों से इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं.

(Workshop on AI) जनधारा मल्टीमीडिया के जनमंच में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर एक वर्कशॉप का आयोजन किया गया था जिसमें सभी ने उत्साह के साथ भाग लिया. इस वर्कशॉप में AI से संबंधित कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई जिसमें इसके फायदे और नुकसान के बारे में सीख दी गई. खास मेहमान अतिन्द्र सिंह ने वर्कशॉप में सभी कर्मचारियों को संबोधित किया और इस क्षेत्र से जुड़ी कई बातें बताई.

वहीं कार्यक्रम के अंत में प्रधान संपादक सुभाष मिश्र ने भी सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते समय कई बातों को ध्यान में रखने का टिप्स देते हुए वर्कशॉप का समापन किया.

Read More- Omicron Symptoms ‘Cold-Like’: What Does UK Study Say on COVID Variant?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *