छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू का प्रकोप जारी, 161 मामलों के साथ 86 मरीजों का इलाज जारी… दो की मौत

  1. रायपुर | (Swine Flu in chhattisgarh) छत्तीसगढ़ में अब भी स्वाइन फ्लू का प्रकोप जारी है. बताया गया है की स्वाइन फ्लाई से दो महिलाओं की मौत हो गयी है. रायपुर में अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गयी है. 

जानकारी के अनुसार, दोनों महिलाओं की उम्र 60 से ऊपर है. इसी के साथ प्रदेश में 14 नए केस फिर सामने आए है. इससे लोगों के बीच दहशत का माहौल है. कोरोना के मामले प्रदेश वापस बढ़ ही रहे थे की स्वाइन फ्लू ने प्रदेश में दस्तक दे दिए, जिससे कई लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

(Swine Flu in chhattisgarh) इसी कड़ी में प्रदेश में स्वाइन फ्लू के कुल 161 केस हो गए है जिसमें से 86 मरीजों का इलाज अब भी जारी है.

स्वाइन फ्लू भी सामान्य इंफ्लूएंजा यानी सर्दी-जुकाम जैसे लक्षणों वाला ही होता है. अंतर यह है कि सामान्य सर्दी-जुकाम अधिकतम तीन दिनों में ठीक हो जाता है, लेकिन स्वाइन फ्लू में यह कई दिनों तक चलता है. इससे श्वसन तंत्र को नुकसान पहुंचता है. छोटे बच्चों, बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं और दिल, किडनी, फेफड़े आदि की बीमारियों से जूझ रहे मरीजों के लिए यह फ्लू घातक हो सकता है.

डॉक्टरों का कहना है, स्वाइन फ्लू एक इंफ्लुएंजा वायरस की वजह से होता है जो सुअरों में पाया जाता है. तीन दिनों से अधिक समय तक 101 डिग्री से अधिक बुखार रह रहा हो, गले में खराश और सांस लेने में तकलीफ हो रही हो, नाक से पानी आ रहा हो या फिर नाक पूरी तरह बंद हो गई हो, थकान, भूख में कमी और उल्टी जैसे लक्षण स्वाइन फ्लू हो सकते हैं. (Swine Flu in chhattisgarh) अगर ऐसे लक्षण दिखें तो इसे नजर अंदाज न करें, और तुरंत अस्पताल पहुंचकर जांच कराएं.

इंफ्लुएंजा वायरस जैसे संक्रमणों से रोकथाम के लिए मास्क लगाए रखने में ही समझदारी है. नियमित रूप से हाथ धोते रहें अथवा हाथों को सैनिटाइज करें. भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें. साफ-सफाई का ख्याल रखे. संक्रमित लोगों के सीधे संपर्क में आने से बचकर भी इस बीमारी को रोका जा सकता है. (Swine Flu in chhattisgarh)

Read More- Omicron Symptoms ‘Cold-Like’: What Does UK Study Say on COVID Variant?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *