हरियाणा के फतेहाबाद में ‘सम्मान दिवस रैली’ का आयोजन, नीतीश कुमार ने कांग्रेस समेत सभी दलों से की साथ आने की अपील

पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की 109वीं जयंती पर हरियाणा के फतेहाबाद में ‘सम्मान दिवस रैली’ का आयोजन किया गया। इनेलो (इंडियन नेशनल लोक दल) प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला ने रैली के लिए नीतीश सहित 10 राज्यों के 17 नेताओं को आमंत्रित किया था। लेकिन मंच पर सिर्फ 5 बड़े नेता ही नजर आए। इनमें नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, NCP चीफ शरद पवार, SAD नेता सुखबीर सिंह बादल और CPI(M) महासचिव सीताराम येचुरी शामिल रहे।

बाल मृत्यु दर में कमी लाने की दिशा में भारत ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि

नीतीश कुमार ने सभी पार्टियों से की अपील: 

इंडियन नेशनल लोकदल की रैली में नीतीश कुमार ने कांग्रेस समेत सभी दलों से साथ आने की अपील की। नीतीश ने कहा कि ऐसा होने के बाद बीजेपी को 2024 के लोकसभा चुनाव में करारी हार मिलेगी। वहीं तेजस्वी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए पूछा कि अब एनडीए कहां है? शिवसेना, अकाली दल, जदयू जैसे बीजेपी के सहयोगी दलों ने लोकतंत्र को बचाने के लिए साथ छोड़ दिया है।

Road Safety Tournament: श्रीलंका- इंग्लैंड की टीमें पहुंची रायपुर, 27 सितंबर को होगी भिड़ंत

इधर, सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि यह एक नया गठबंधन बनाने के लिए एक साथ आने का समय है। बादल ने आगे कहा कि SAD, शिवसेना और JDU ही असली NDA है, क्योंकि हमने इसकी स्थापना की थी। NCP सुप्रीमो शरद पवार ने कहा कि 2024 में सरकार बदलने का समय आ गया है।

PM Kisan Samman Nidhi: किसानों के लिए खुशखबरी, इस दिन खाते में आएगा सम्मान निधि का पैसा

2015 के बाद पहली बार मिलेंगे नीतीश और सोनिया

इस रैली में शामिल होने के बाद नीतीश दिल्ली लौटकर लालू यादव के साथ सोनिया गांधी से मिलने उनके आवास पर पहुंचेंगे। शाम छह बजे होने वाली बैठक में तेजस्वी यादव भी शामिल होंगे। इससे पहले 2015 में नीतीश और सोनिया की मुलाकात हुई थी। माना जा रहा है, कि बैठक में बीजेपी विरोधी पार्टियों को एकजुट करने की रणनीति पर चर्चा की जाएगी ।

PM Kisan Samman Nidhi: किसानों के लिए खुशखबरी, इस दिन खाते में आएगा सम्मान निधि का पैसा

शिक्षक भर्ती घोटाले में सजा काटकर जेल से छूटे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला से नीतीश ने इसी महीने मुलाकात की थी। चौटाला की पार्टी इनेलो हरियाणा में एक क्षेत्रीय पार्टी है, जिसके पास लोकसभा की 10 सीटें हैं। चौटाला की गिनती बड़े जाट नेताओं में होती है। हरियाणा के साथ-साथ पश्चिमी यूपी की 5 से ज्यादा सीटों पर जाट मतदाताओं का दबदबा है।

Jandhara Special – विश्व प्रसिद्ध ‘बस्तर दशहरा’ व लोक रस्मों की कड़ी, जानें क्या हैं लोकमान्यताएं और लोकमहत्व…

नीतीश कुमार ने इस महीने पहली बार राहुल गांधी के दिल्ली दौरे के दौरान उनसे मुलाकात की थी। कांग्रेस इस समय लोकसभा में सबसे बड़ी पार्टी है। 2019 में कांग्रेस ने 52 सीटें जीती थीं, जबकि पार्टी 210 सीटों पर दूसरे नंबर पर रही थी। यानी कुल 262 सीटें ऐसी हैं जहां कांग्रेस का सीधा मुकाबला बीजेपी से था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *