नगरीय निकाय चुनाव में इस बार नए चेहरों पर दांव लगाएगी भाजपा

भोपाल । नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियें के लिए प्रदेश भाजपा ने सभी जिलों में अपने संगठन पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दे दी है। जिलाध्यक्षों की बैठक में पार्टी नेतृत्व ने साफ कर दिया कि इस बार नए चेहरों पर दांव लगाया जाएगा। निर्विवाद छवि औरसक्रिय कार्यकर्ताओं को चिन्हित कर उन्हें आगे लाने के निर्देश भी पार्टी ने दिए हैं। वार्डों में ज्यादा से ज्यादा नए उम्मीदवारों को टिकट देने की रणनीति बनाई गई है। प्रदेश में 16 नगर निगम, 98 नगर पालिका और 294 नगर परिष्ज्ञद के चुनाव प्रस्तावित हैं। सूत्रों के मुताबिक भाजपा निकाय चुनाव में युवाओं को ज्यादा से ज्यादा संख्या में आगे लेना चाह रही है। पार्टी की रणनीति है कि इन चुनावों में 30 से 45 साल के नए चेहरों को आगे लाकर भाजपा के लिए अगले दो दशक का नेतृत्व तैयार किया जाए। यही वजह है कि मंडल अध्यक्षों का चुनाव लडऩे के लिए आयु सीमा 35 से 40 वर्ष निर्धारित कर दी है। नगरीय निकाय के चुनाव में भी पार्षद से लेकर सभी पदों के लिए पार्टी इसी उम्र के ज्यादा से ज्यादा युवाओं को टिकट देने की रणनीति बना रही है। पार्टी इस तैयारी में है कि स्थानीय निकाय में चुनाव लडऩे वाले 55 या 60 साल से ज्यादा उम्र के कतई न हों। इसके पहले भाजपा ने लोकसभा व विधानसभा चुनावों में 75 साल या उससे ज्यादा उम्र के नेताओं को चुनाव न लडऩे पर प्रभावी तौर पर अमल किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *