Who is This Silent Killer : अचानक बेवफा होता दिल, पोस्ट कोविड इफेक्ट या और कुछ… जानें

Who is This Silent Killer

Who is This Silent Killer

 

जनधारा 24 न्यूज डेस्क। Who is This Silent Killer:

कभी मोबाइल पर बातें करते-करते।

Who is This Silent Killer: कभी स्टेज पर नाचते-नाचते,

तो कभी सामान्य चर्चा के दौरान,

हार्ट अटैक। आखिर क्यों अचानक बेवफा होता जा रहा है

युवाओं का दिल ?

कौन है ये साइलेंट किलर ?

कहीं इसके पीछे पोस्ट कोविड इफेक्ट तो नहीं ?

कम उम्र के लोगों के साथ ही आखिर क्यों हो रहा है ऐसा ?

सब कुछ आपको बताएंगे, बस आप बने रहिए जनधारा 24 के साथ-

 

Who is This Silent Killer:

सोशल मीडिया पर अक्सर वीडियो वाॅयरल होते रहते हैं।

जहां किसी को नाचते-नाचते हार्ट अटैक आ जाता है।

तो किसी को जिम में रियाज करते-करते काॅर्डिक अरेस्ट।

किसी को ड्रामा में एक्शन करते वक्त ही आ गया हार्ट अटैक।

लगातार हार्ट अटैक से बड़ी तादाद में होने वाली मौतों ने

डाॅक्टर्स को इस बात पर भी सोचने के लिए विवश कर दिया है,

कि कहीं इसके पीछे पोस्ट कोविड इफेक्ट तो नहीं है ?

तो आइए जानते हैं कि आखिर क्यों जा रही अचानक लोगों की जान

राजू श्रीवास्तव, सिद्धार्थ शुक्ला, सिद्धांत वीर जैसे मामलों के पीछे क्या कारण है?

 

भारत में हार्ट अटैक से मरने वाले 10 में से 4 लोगों की उम्र 50 साल से कम होती है।

कोरोना के बाद अचानक हार्ट अटैक से मौत चिंता बढ़ा रही है


डॉक्टर का कहना है कि कोरोना वैक्सीन और हार्ट अटैक में कोई संबंध नहीं है।

 

Who is This Silent Killer :

बंगाली एक्ट्रेस एंड्रीला शर्मा का 24 साल में निधन, 78 साल की मशहूर एक्ट्रेस तबस्सुम का निधन,

टीवी एक्टर सिद्धांत वीर और कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव ने जिम करते हुए अपनी जान गंवाई।

ऐसे कई सेलेब्रिटी और आम लोग हैं जो आए दिन

एक ऐसी बीमारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा रहे हैं।

जो आने से पहले दस्तक भी नहीं दे रही है जी हाँ, आपने सही समझा।

हम बात कर रहे हैं कार्डिएक अरेस्ट की,

जिसे आमतौर पर हार्ट अटैक के नाम से जाना जाता है।

आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना महामारी के बाद अचानक

हार्ट अटैक से मरने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है।

आखिर क्या वजह है कि हार्ट अटैक की बीमारी में

अचानक से इजाफा हुआ है ?

हैरान करने वाली बात यह है कि

अब तक इस साइलेंट किलर की खुलकर चर्चा भी नहीं हो रही है।

आमतौर पर हार्ट अटैक से होने वाली मौतों के पीछे

कई कारण होते हैं, लेकिन

पिछले डेढ़ साल में शारीरिक रूप से फिट

लोगों की मौत हार्ट अटैक से हुई है।

आइए जानते हैं इसके पीछे के कारणों के बारे में…?

 

Is corona the real reason for heart attack?

 

जिन लोगों को कोरोना हुआ है उन्हें

डॉक्टर विशेष सावधानी बरतने की सलाह देते हैं।

ऐसे में हार्ट अटैक के पीछे की असली वजह कोरोना बताई जा रही है।

हालांकि अभी तक इस बात की कोई पुष्टि नहीं हुई है।

एक नए अध्ययन से पता चला है कि जो लोग

कोविड से संक्रमित हुए हैं, उनमें कई जानलेवा

बीमारियों का तुलनात्मक रूप से अधिक जोखिम है।

इस अध्ययन के आधार पर करोड़ों लोग खतरे के दायरे में आते हैं।

 

क्या कहती है शोध रिपोर्ट

हार्ट पर प्रकाशित एक शोध में कहा गया है कि

कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती लोगों में असंक्रमित लोगों की

तुलना में वेनस थ्रोम्बोएम्बोलिज्म (वीटीई) विकसित होने की

संभावना 27 गुना अधिक होती है।

जो लोग इलाज के लिए अस्पताल नहीं गए थे,

उनमें वीटीई विकसित होने की संभावना असंक्रमित

लोगों की तुलना में तीन गुना अधिक थी।

वीटीई एक ऐसी स्थिति है जिसमें एक नस में

रक्त का थक्का बन जाता है।

अगर यह थक्का बड़ा हो जाए या

इसका उपचार न किया जाए

तो यह मौत का कारण भी बन सकता है।

 

What the Experts says-

 

लंदन की क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने कहा कि जो लोग कोविड संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हैं

उनमें दिल का दौरा पड़ने की संभावना 21 गुना और स्ट्रोक होने की संभावना 17 गुना अधिक है।

उन्हें एट्रियल फाइब्रिलेशन (अनियमित हृदय) और पेरिकार्डिटिस (दिल की सूजन)

और दिल का दौरा पड़ने की भी अधिक संभावना है।

निष्कर्ष बताते हैं कि संक्रमण के बाद पहले 30 दिनों के भीतर हृदय रोग

और मृत्यु का सबसे बड़ा जोखिम होता है,

लेकिन जोखिम कुछ समय बाद तक बना रहता है।

 

आखिर क्यों संदिग्ध लग रहा है कोरोना का टीका ?

Who is This Silent Killer
Who is This Silent Killer

हाल ही में हार्ट अटैक से हुई मौतों के पीछे मुख्य कारण कोरोना वैक्सीन को बताया जा रहा है।

हालांकि इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है।

यह केवल निराधार चर्चा का विषय है।

एक इंटरव्यू में अमृता अस्पताल में कार्डियोलॉजी के प्रोफेसर

और एचओडी डॉ विवेक चतुर्वेदी ने बताया है कि

भारत में मौजूद कोरोना वैक्सीन और हार्ट अटैक के

बीच कोई संबंध नहीं है।

सोशल मीडिया पर उठ गए सवाल

 

हालांकि सोशल मीडिया पर कई सवाल उठ रहे हैं कि

क्या कोरोना वैक्सीन के असर से हार्ट अटैक के चांस बढ़ रहे हैं?

इस मामले में डॉ. विवेक का कहना है कि

भारत में मौजूद किसी भी वैक्सीन का हार्ट अटैक या

दिल से जुड़ी बीमारियों से

अबतक कोई लिंक नहीं मिला है।

तो वहीं, राजीव गांधी अस्पताल के हार्ट सर्जन और सीनियर कंसल्टेंट

डॉ. अजीत जैन का मानना है कि यह बात सही है कि

इससे जुड़ी कोई रिपोर्ट नहीं है,

जो यह साबित करती हो कि

इसका हार्ट अटैक से कोई संबंध है,

लेकिन संख्या कितनी भी हो भारत में कोरोना के मामले।

टीके दिए जा रहे हैं, उनमें से किसी का भी

लंबे समय तक अध्ययन नहीं किया गया है,

उनका अध्ययन किया जाना चाहिए।

 

किस उम्र के लोग हो रहे हैं इसके शिकार

आंकड़ों के अनुसार , भारत में हार्ट अटैक से मरने वाले 10 में से

4 लोगों की आयु 50 साल से कम होती है।

तो वहीं, 10 साल में भारत में हृदयघात से होने वाली मौतों में

करीब 75 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है।

अमेरिका के एक रिसर्च जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक,

2015 तक भारत में 6.2 करोड़ लोग हृदय रोग से ग्रसित थे।

इसमें से 2.3 करोड़ लोग ऐसे थे जिनकी आयु 40 साल से कम है

यानी 40 फीसदी दिल के रोगी 40 साल की उम्र के हैं,

ऐसा ही एक अध्ययन 2018 में भी सामने आया था,

जब साइंस जर्नल लैंसेट ने 1990 से 2016 तक की दिल की

बीमारियों से जुड़े आंकड़े लोगों के जुटाए थे

अध्ययन में तो ये भी दावा किया गया था कि 1990 में भारत में होने वाली

सभी मौतों में से 15.2ः दिल से संबंधित रोगों के कारण हुई थी।

2016 में यह आंकड़ा बढ़कर 28.1 फ़ीसदी हो गया।

यानी 2016 में होने वाली भारत में हर 100 मौतों में से 28 मौतें

दिल से जुड़ी बीमारियों के कारण हुईं।

 

देखिए हाल ही में साइलेंट किलर के शिकार लोगों की पूरी लिस्ट-

 

बंगाली अभिनेत्री एंड्रिला शर्मा की 24 साल

की आयु में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई ।

 

मशहूर एक्ट्रेस तबस्सुम का 78 साल की उम्र में

दो बार दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।

 

46 वर्षीय टीवी अभिनेता सिद्धांत वीर सूर्यवंशी को जिम में

वर्कआउट के दौरान दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

 

59 साल के कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को जिम में

एक्सरसाइज करते हार्ट अटैक आया था, और कुछ दिन बाद उनकी मौत हो गई ।

 

46 वर्षीय कन्नड़ अभिनेता पुनीत राजकुमार की

हार्ट अटैक से मौत हो गई ।

 

41 वर्षीय टीवी अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला की भी

दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई ।

 

लाइव परफॉर्मेंस के दौरान कार्डियक अरेस्ट की

वजह से 53 साल की आयु वाले सिंगर केके का निधन हो गया।

 

महाराष्ट्र के विधायक रमेश लटके (52) का

दुबई में हार्ट अटैक आने से निधन हो गया।

 

भाभी जी घर पर हैं फेम अभिनेता दीपेश भान

का 41 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से स्वर्गवास हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *