सड़क और पीने के पानी के लिए तरस रहे ग्रामीण

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ राज्य बने 15 साल बीत जाने के बाद भी सरगुजा जिले का एक ग्राम पंचायत के पी बाबा पारा जहां ग्रामीण सड़क और पानी के लिए तरसते नजर रहे हैं। इलाज के लिए भी इन्हें लंबी दूरी पैदल तय करने के बाद स्वास्थ्य सुविधा मिल पाती है, इस गांव में एंबुलेंस तक की सुविधा नहीं है।

दरअसल, सरगुजा जिले के अंतर्गत ग्राम पंचायत के पी बाबा पारा है  जहां लगभग 50 घर की आबादी है लगभग 50 साल से ग्रामीण यहां के निवासी हैं जिन्हें आज भी पीने का पानी और पक्की सड़क की तलाश है यहां के ग्रामीणों ने कई बार प्रशासन से जनप्रतिनिधियों से पीने के पानी और सड़क के लिए गुहार लगा चुके हैं। इसके बावजूद उन्हें अब तक ना तो पीने का पानी और ना ही पक्की सड़क मिल पाई है। आज भी ग्रामीण पगडंडियों के सहारे पैदल चलने को मजबूर है और बांध का पानी पीने की मजबूरी है।

बोरवेल बंद पड़े

कई जगह बोरवेल है मगर वह भी बंद पड़े हैं गांव में अगर कोई बीमार पड़ जाता है तो उन्हें मरीज को पैदल ही नीचे सड़क तक ले जाया जाता है उसके बाद एंबुलेंस की सुविधा मिल पाती है दरअसल ग्रामीणों की मांग है कि उन्हें पक्की सड़क और पीने का पानी की व्यवस्था प्रशासन से करवा दी जाए ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *