जूजीत्सू चैंपियनशिप में 80 से 90 प्रतिभागियों ने लिया हिस्सा

रायपुर। प्रथम जिला स्तरीय जूजीत्सू चैंपियनशिप 2022 का आयोजन राजधानी रायपुर के श्री बालाजी विद्या मंदिर स्कूल में आयोजित हुआ। इस आयोजन में मुख्य अतिथि  मोहन के. नायडू ने विजेता खिलाड़ियों का हौसला अफजाई किया और उन्हें मैडल पहना कर पुरस्कृत किया।

यह भी पढ़ें…

राजधानी में बॉक्सिंग चैंपियनशिप के बाद अब प्रो रेसलिंग टूर्नामेंट का आयोजन

जूजीत्सू एसोसिएशन ऑफ रायपुर के सचिव सूरज वर्मा ने बताया कि प्रतियोगिता में श्री बालाजी स्कूल,आदर्श स्कूल, के.पी.एस, वी.एल.एम, अभनपुर स्कूल, सरस्वती स्कूल से लगभग 80-90 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

प्रतियोगिता को संचालित करने में  जूजीत्सू एसोसिएशन के उपाध्यक्ष  उमेश सिंह ठाकुर,  सचिव सूरज वर्मा और कोषाध्यक्ष  अमोल तिवारी ने किया। सचिव  सूरज वर्मा ने जानकारी दी की दिसंबर में बस्तर जिला में होने वाली राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में रायपुर जिले के सभी प्रथम स्थान खिलाड़ी भाग लेंगे। इस आयोजन में चांदनी दीवान,विशाल हियाल,अजय तिवारी,अजय साहू,कार्तिक स्वामी,के हेमंत कुमार और अंतरा सारथी का सहयोग रहा।

यह भी पढ़ें…

National Power Lifting: नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में आरती का धमाल….

क्या है जूजीत्सू-

जिउ-जित्सु एक सामान्य नाम है जिसका उपयोग युद्ध प्रणाली के लिए किया जाता है जिसका स्पष्ट रूप से वर्णन करना लगभग असंभव है।

यह हाथ से हाथ का मुकाबला है, ज्यादातर मामलों में, हथियारों के उपयोग के बिना, और केवल कुछ मामलों में – हथियारों के साथ।

जिउ-जित्सु तकनीकों में लात मारना, मुक्का मारना, फेंकना, पकड़ना, अवरुद्ध करना, घुटना और बांधना, साथ ही कुछ प्रकार के हथियारों का उपयोग करना शामिल है। जिउ-जित्सु पाशविक शक्ति पर नहीं, बल्कि निपुणता और निपुणता पर निर्भर करता है।

यह भी पढ़ें…

BWF World Champion: बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों ने जीता कांस्य पदक

अधिकतम प्रभाव प्राप्त करने के लिए न्यूनतम प्रयास का प्रयोग। यह सिद्धांत किसी को भी, उनकी शारीरिक आकृति या काया की परवाह किए बिना, अपनी ऊर्जा को सबसे अधिक दक्षता के साथ नियंत्रित करने और उपयोग करने की अनुमति देता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *