World’s Worst Female Serial Killer : कैसे एक साइको नर्स ने मारा सैकड़ों बच्चों को, जानें क्या है साइकोपैथ

 

World’s Worst Female Serial Killer : हाल ही में हुए श्रद्धा हत्याकांड से पूरा देश सन्न है। लोगों के पास शब्द ही नहीं है कुछ कहने के लिए। कैसे एक व्यक्ति किसी की इस तरह से निर्मम हत्या कर सकता है और लाश के टुकड़े- टुकड़े कर सकता है। उसकी बॉडी के पार्ट को कैसे इतने समय तक फ्रीजर करके रख सकता है।  ये तमाम बातें है जो लोग आज भी समझने की कोशिश कर ही रहे हैं।

क्या आप जानते  हैं कि इस तरह की वारदात को अंजाम देने वाले को क्या कहते हैं तो हम बता दें कि इस तरह के लोगों को साइकोपैथ्स कहते हैं। आफताब के अलावा पूरी दुनिया में कई ऐसे साइकोपैथ्स हुए हैं, जिनकी हरकत ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था।  हैरान करने वाली बात यह है कि इस तरह की हरकत सिर्फ पुरुष ही नहीं करते बल्कि कई महिलाएं भी साइकोपैथ्स  हुई हैं। अगर आपने नीरो और उसके दौर में रोम के शाही खानदान के बारे में पढ़ा होगा तो  लॉकस्टा के बारे में भी जानते होंगे। स दौर में लॉकस्टा रोम के शाही खानदान का इलाज करती थी।  वह इलाज के बहाने से लोगों को मारती थी।

लॉकस्टा पहली महिला सीरियल किलर थी

लॉकस्टा की गिनती दुनिया के पहले सीरियल किलर में होती है। क्योंकि लॉकस्टा को जड़ी-बूटियों का अच्छा ज्ञान था। ऐसे में वह जानती थीं कि किस पौधे की एक बूंद भी इंसान की तुरंत जान ले सकती है। उसने सबसे पहले रोम के राजा क्लॉडियस को मार डाला। दरअसल लोकस्टा को सीरियल किलर नीरो ने बनाया था। अपने पिता के बाद सिंहासन पर बैठकर नीरो अपने प्रत्येक शत्रु को मारने के लिए लॉकस्टा की सहायता लेने लगा।

यह भी पढ़ें…

सुभाष की बात : श्रद्धा हत्याकांड और समाज के सामने उठे सवाल

इस तरह क्रेज बढ़ता गया

शुरुआत में नीरो ने उसके जरिए अपने कई दुश्मनों को मार गिराया, लेकिन धीरे-धीरे लोक्टा को लोगों को मारने में मजा आने लगा। वह अपने शौक में किसी की हत्या कर देती थी। कई बार वह पौधों के जहर की जांच करते हुए किसी की जान ले लेती थी। 64 ई. में नीरो की मृत्यु के बाद लॉकस्टा को भी बड़े क्रूर तरीके से मारा गया।

19वीं सदी में सैकड़ों बच्चों को एक नर्स ने मार डाला था

लॉकस्टा नीरो के दौर का एक पात्र था, लेकिन उससे प्रेरित और उन्हीं की तरह एक सीरियल किलर ब्रिटेन में 19वीं शताब्दी में देखा गया था। इस सीरियल किलर का नाम एमिलिया डायर था। बताया जाता है कि पेशे से नर्स एमिलिया ने 400 से ज्यादा बच्चों की हत्या की थी। मार्च 1896 में जब टेम्स नदी के किनारे लोगों को एक बच्चे की लाश मिली। टेप से उसका गला घोंटा गया था। शरीर पर चोट के निशान थे। जब मामले की जांच की गई तो एमिलिया का राज खुल गया। बाद में उन्हें मौत की सजा सुनाई गई थी। लेकिन उसके सीरियल किलर बनने की कहानी भी दिलचस्प है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *