Sukesh Chandrasekhar Case : ठग सुकेश चंद्रशेखर से जैकलीन फर्नांडिस की दोस्ती कराने वाली पिंकी ईरानी गिरफ्तार, जानिए इनसाइड स्टोरी

Sukesh Chandrasekhar Case : ठग सुकेश चंद्रशेखर से जैकलीन फर्नांडिस की दोस्ती कराने वाली पिंकी ईरानी गिरफ्तार, जानिए इनसाइड स्टोरी

Sukesh Chandrasekhar Case : ठग सुकेश चंद्रशेखर से जैकलीन फर्नांडिस की दोस्ती कराने वाली पिंकी ईरानी गिरफ्तार, जानिए इनसाइड स्टोरी

Sukesh Chandrasekhar Case : ठग सुकेश चंद्रशेखर से जैकलीन फर्नांडिस की दोस्ती कराने वाली पिंकी ईरानी गिरफ्तार, जानिए इनसाइड स्टोरी

Sukesh Chandrasekhar Case : पिंकी ईरानी पेशे से इवेंट मैनेजर हैं। लेकिन वह ठग सुकेश चंद्रशेखर का

करीबी बताया जाता है। यह भी कहा जाता है कि वह सुकेश के साथ

https://aajkijandhara.com/petrol-diesel/

काम करती थी और उसकी विश्वासपात्र है। पिंकी ईरानी ही वो महिला हैं

जिन्होंने पहली बार जैकलीन को सुकेश चंद्रशेखर से मिलवाया था।

जेल में बैठकर 200 करोड़ की ठगी करने वाले शातिर ठग सुकेश

चंद्रशेखर से जुड़ा मामला अब आसपास रहने वालों के लिए भी परेशानी

का सबब बनता जा रहा है. ऐसे लोगों की लिस्ट में कई नाम शामिल हैं.

लेकिन दो नाम ऐसे हैं जो चर्चा में हैं। पहला नाम बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन

फर्नांडिस का है और दूसरा नाम पिंकी ईरानी का है। पिंकी को आर्थिक

अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। आइए

आपको बताते हैं कि इस मामले में पिंकी का क्या रोल है?

कौन हैं पिंकी ईरानी
पिंकी ईरानी पेशे से इवेंट मैनेजर हैं। लेकिन वह ठग सुकेश चंद्रशेखर का

करीबी बताया जाता है। यह भी कहा जाता है कि वह सुकेश के साथ

काम करती थी और उसकी विश्वासपात्र है। पिंकी ईरानी ही वह महिला हैं,

जिन्होंने पहली बार सुकेश चंद्रशेखर से जैकलीन और कई अन्य अभिनेत्रियों

का परिचय कराया। वह जैकलीन और अन्य सभी अभिनेत्रियों और सुकेश

के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं। पिंकी ईरानी ने ही सुकेश की तरफ से

जैकलीन फर्नांडिस को करोड़ों रुपए के गिफ्ट भेजे थे।

इससे पहले ईडी ने पिंकी को गिरफ्तार किया था
पूछताछ के दौरान जैकलीन ने पिंकी पर कई गंभीर आरोप लगाए,

जिसके बाद 25 नवंबर 2021 को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पिंकी

को पूछताछ के लिए मुंबई स्थित ईडी कार्यालय बुलाया। वहां से उन्हें हिरासत

में ले लिया गया। उनसे लंबी पूछताछ हुई और 9 दिसंबर 2021 को उन्हें

गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन बाद में उन्हें जमानत मिल गई।

तब से वह जेलसे बाहर थी।

लेकिन अब उसे आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed