Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree: बघेल हुड्डा और शुक्ला पहुंचे शिमला, विधायकों की बैठक कुछ देर में

Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree: बघेल हुड्डा और शुक्ला पहुंचे शिमला, विधायकों की बैठक कुछ देर में

Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree: बघेल हुड्डा और शुक्ला पहुंचे शिमला, विधायकों की बैठक कुछ देर में

जनधारा 24 पाॅलिटिकल डेस्क । Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree:

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की बंपर जीत के बाद से ही अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी जश्न में डूबी है।

उधर लोग एक की सवाल उठा रहे हैं कि Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree ?

 

Kaun Banega Himaachal ka Mukhyamantree:

इसी समीकरण को साधने के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा और हिमाचल के

कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला शिमला पहुंच गए हैं।

भीतरी सू़त्रों से खबर आ रही है कि दोपहर बाद कांग्रेस

मुख्यालय राजीव भवन शिमला में विधायकों की बैठक होगी।

शिमला पहुंचने पर जोरदार स्वागत

तीनों ही कद्दावर नेताओं के शिमला पहुंचने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने जोरदार स्वागत किया।

इसके बाद तीनों ही दिग्गज नेता शिमला के होटल रेडिसन चले गए। इनको यहीं ठहराया गया है।

प्रतिभा सिंह की राह नहीं होगी आसान

हिमाचल की कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह लगातार वीरभद्र सिंह का नाम लेकर

खुद को सीएम पद के लिए आगे कर रही हैं।

उनको सीएम पद का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा है।

तो वहीं दो अन्य उम्मीदवार भी इस पद की दौड़ में शामिल बताए जा रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने के बाद

कांग्रेस में मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर उठापटक तेज हो गई है।

सीएम की कुर्सी की दौड़ में कौन-कौन

प्रदेश कांग्रेस के बड़े नेता सीएम बनने की लॉबिंग में लगे हैं।

सीएम पद के प्रमुख दावेदारों में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह,

प्रदेश कांग्रेस अभियान समिति के अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू

और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री शामिल हैं।

इसके अलावा 82 वर्षीय दिग्गज नेता धनीराम शांडिल,

कांगड़ा से ओबीसी चेहरा चंद्र कुमार (78) और

सिरमौर से छठी बार विधायक बने हर्षवर्धन चौहान भी

सीएम पद के दावेदारों में शामिल हैं।

बैठक में क्या होगा खास

कांग्रेस आलाकमान द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक भूपेश बघेल और भूपेंद्र सिंह हुड्डा

आज दोपहर बाद शिमला में नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक करने जा रहे हैं।

पर्यवेक्षक देखेंगे कि कितने विधायक किस नेता के साथ हैं।

विधायकों की मतगणना के बाद दोनों पर्यवेक्षक आलाकमान को रिपोर्ट करेंगे।

इसके आधार पर आलाकमान सीएम चेहरे की घोषणा करेगा।

माना जा रहा है कि पर्यवेक्षी टीम चाहती है कि

सभी विधायक सिर्फ एक लाइन में लिख दें कि

आलाकमान का फैसला सबको मंजूर होगा।

 

प्रतिभा सिंह फर्स्ट रनर

प्रतिभा सिंह को सीएम की दौड़

में सबसे आगे माना जा रहा है,

क्योंकि वह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष

और दिवंगत वीरभद्र सिंह की पत्नी हैं,

जो छह बार सीएम रहे।

उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह

लगातार दूसरी बार विधायक बने हैं।

इस चुनाव में प्रतिभा सिंह का निजी आवास

होलीओक्स राजनीतिक चर्चा में रहा।

चुनाव में होलीओक्स का खौफ देखने को मिला।

होलीओक्स अपने कई समर्थकों के लिए टिकट पाने में

कामयाब रहे। यह अलग बात है कि सीएम की दौड़ में

शामिल होलोलोज समर्थक कौल सिंह

और राम लाल ठाकुर अपने-अपने चुनाव हार गए।

 

प्रतिभा सिंह की राह क्यों आसान नहीं इसे ऐसे समझें

प्रतिभा सिंह के लिए सीएम की

कुर्सी की राह आसान नहीं है क्योंकि

प्रतिभा सिंह वर्तमान में प्रदेश अध्यक्ष

होने के साथ-साथ मंडी संसदीय क्षेत्र से सांसद भी हैं।

ऐसे में अगर पार्टी उन्हें मुख्यमंत्री बनाती है

तो कांग्रेस मंडी उपचुनाव का जोखिम नहीं उठाना चाहेगी।

इस सीट पर भाजपा ने प्रचंड जीत दर्ज की है।

इस लोकसभा क्षेत्र की 17 में से 12 विधानसभा सीटों

पर कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा है।

अकेले मंडी जिले की 10 में से 9 सीटों पर

जीत हासिल कर बीजेपी ने दमदार प्रदर्शन किया है।

निवर्तमान सीएम जयराम ठाकुर ने

यहां 37,000 से अधिक मतों के रिकॉर्ड अंतर से जीत हासिल की।

 

क्या हिमाचल में टूटेगी पुरानी परंपरा

अब तक कांगे्रस में एक परंपरा ये भी रही है कि

प्रदेश अध्यक्ष को ही सारे विधायक

अपने दल का नेता चुनते हैं।

Read More : Bride got a Donkey as a Wedding Gift : कहां दुल्हन को शादी के तोहफे में मिला गधा, सोशल मीडिया में छिड़ी जोरदार बहस

उसी नेता को फिर सीएम बनाया जाता है।

अब तक कमोबेश ऐसा ही होता आया है।

अब अगर आज कांग्रेस की सुप्रीमो

लीक से हटकर कोई और फैसला लेती हैं,

तो फिर ये नियम अपने आप ही टूट जाएगा।

ऐसे में पूरे देश की निगाहें हिमाचल प्रदेश

के इसी फैसले पर लगी हुई है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed