रोहित का 161 रन की विस्फोटक शतकीय पारी : भारत छह विकेट पर 300 रन

चेन्नई। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की 161 रन की विस्फोटक शतकीय पारी और उनकी उपकप्तान अजिंक्या रहाणे (67) के साथ चौथे विकेट के लिए 162 रन की बेहतरीन साझेदारी की बदौलत भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन शनिवार को छह विकेट पर 300 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।
रोहित ने अपने शतक से कप्तान विराट कोहली के टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के फैसले को सही साबित किया। रोहित ने 231 गेंदों पर 161 रन की पारी में 18 चौके और दो छक्के लगाए। रोहित का इंग्लैंड के खिलाफ यह पहला और अपने करियर का सातवां शतक था।
रोहित ने रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिए 310 गेंदों में 162 रन की साझेदारी कर भारत को तीन विकेट पर 86 रन की नाजुक स्थिति से उबार लिया। रहाणे ने अपनी खराब फॉर्म को पीछे छोड़ते हुए पिछली 15 पारियों में दूसरा फिफ्टी प्लस का स्कोर बनाया। रहाणे ने 149 गेंदों पर 67 रन में नौ चौके लगाए। चेतेश्वर पुजारा ने 21 रन बनाये जबकि विकेटकीपर ऋषभ पंत 33 रन बनाकर क्रीज पर हैं।
ओपनर शुभमन गिल और कप्तान विराट खाता खोले बिना आउट हुए। रविचंद्रन अश्विन ने 13 रन बनाये जबकि पदार्पण टेस्ट खेल रहे अक्षर पटेल पांच रन बनाकर पंत के साथ क्रीज पर हैं। इंग्लैंड की तरफ से उसके स्पिनरों जैक लीच और मोईन अली ने दो-दो विकेट लिए।
भारत ने लंच तक तीन विकेट खोकर 106 रन और चायकाल तक तीन विकेट खोकर 189 रन बनाये थे। रोहित ने अपने 50 रन 47 गेंदों में, 100 रन 130 गेंदों में और 150 रन 208 गेंदों में पूरे किये। दूसरे टेस्ट के पहले दिन का खेल पूरी तरह हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित के नाम रहा।
भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सुबह टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत ने सुबह के सत्र में ओपनर शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा और विराट के विकेट गंवाए। गिल और विराट का खाता नहीं खुला जबकि पुजारा ने 21 रन बनाये। लंच के समय रोहित 78 गेंदों में 13 चौकों और एक छक्के की मदद से 80 रन और रहाणे 12 गेंदों में पांच रन बनाकर क्रीज पर थे।
रोहित ने सुबह के सत्र में स्कोरिंग की सारी जिम्मेदारी अपने कंधों पर रखी। तीन विकेट गिरने के बावजूद रोहित ने तेज गति से रन बटोरकर इंग्लैंड के गेंदबाजों को हावी नहीं होने दिया। रोहित ने स्वीप का इस्तेमाल कर इंग्लैंड के दोनों स्पिनरों लेफ्ट आर्म स्पिनर जैक लीच और ऑफ स्पिनर मोईन अली की गेंदों पर चौके मारे। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला अर्धशतक भी पूरा किया।
भारत को टॉस जीतने के बाद दूसरे ओवर में ही झटका लगा जब ओली स्टोन ने गिल को पगबाधा कर दिया। गिल ने कोई शॉट ऑफर नहीं किया और अपना बल्ला हवा में उठा लिया। अम्पायर ने गिल को पगबाधा आउट करार दिया। रोहित और पुजारा ने दूसरे विकेट के लिए 85 रन की साझेदारी की। पुजारा ने लीच की गेंद पर फॉरवर्ड डिफेंसिव शॉट खेलने के प्रयास में स्लिप में बेन स्टोक्स को कैच थमा दिया। पुजारा ने 58 गेंदों में दो चौकों की मदद से 21 रन बनाये।
कप्तान विराट को अली ने एक खूबसरत गेंद पर बोल्ड कर दिया। अली की गेंद टप्पा पड़ने के बाद तेजी से टर्न हुई और विराट के बल्ले तथा पैड के बीच में से निकलती हुई उनकी बेल्स गिरा गयी। विराट को इस तरह आउट होने पर भरोसा नहीं हुआ। उन्हें लगा कि शायद बेल्स विकेटकीपर के दस्तानों से लग कर गिरी हो। उन्होंने तुरंत डीआरएस का सहारा लिया लेकिन वह साफ़ बोल्ड थे और उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा। विराट अपने करियर में 11 वीं बार शून्य पर आउट हुए। विराट को पहली बार किसी स्पिनर ने शून्य पर आउट किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *