मोरपेन की नजर अरबों डॉलर के नए एपीआई बाजार पर

नयी दिल्ली . दवा क्षेत्र की कंपनी मोरपैन लेबोरेटरीज लिमिटेड अरबों डॉलर के एपीआई (एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रेडिएंट्स) बाजार पर नजर बनाए हुए है।
कंपनी ने अपने बल्क ड्रग्स के पोर्टफोलियो में नए मॉलिक्यूल्स जोड़े हैं। इन नए मॉलिक्यूल्स का प्रमुख फोकस डायबिटीज और हाइपरटेंशन के साथ-साथ बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल, न्यूरोलॉजी और मानसिक रोगों जैसी बीमारियों पर है। अगले पांच-छह सालों में इन नए मॉलिक्यूल्स का ग्लोबल पेटेंट खत्म हो रहा है। वर्तमान में इन नए मॉलिक्यूल्स पर शोध और विकास कार्य अग्रसर है। अगले 24 से 36 महीनों में ये मॉलिक्यूल्स अलग-अलग चरणों में अपनी भूमिका निभाने के लिए आगे आएंगे।
कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सुशील सूरी ने यहां कहा कि कंपनी इन सभी पूर्व कथित प्रमुख क्षेत्रों में जबर्दस्त नए प्रॉडक्ट्स की लॉन्चिंग के साथ अपने पोर्टफोलियो को मजबूत बनाने की तेजी से तैयारी कर रही है। कंपनी के ये सभी प्रॉडक्ट्स अगले तीन-चार सालों में घरेलू बाजार के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी लॉन्च किए जाएंगे। कंपनी शोध एवं विकास और नए प्रॉडक्ट ब्लॉक्स बनाने पर भी काफी तेजी से निवेश कर रही है। इसी के साथ कंपनी इन नए मॉलिक्यूल्स का उत्पादन करने के लिए अतिरिक्त क्षमता भी विकसित कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *