उप्र कोविड टेस्ट करने व वैक्सीन लगाने वाला देश का पहला राज्य बना

लखनऊ . उत्तर प्रदेश 10 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंट लाइन कर्मियों के वैक्सीनेशन का कार्य करने एवं सबसे अधिक तीन करोड़ कोरोना टेस्ट करने वाला देश में पहला राज्य है।
राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने आज यहां लोक भवन में संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में 1,20,384 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक 3,00,37,025 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश 03 करोड़ से अधिक कोविड-19 का टेस्ट करने वाला देश का पहला राज्य है।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 81 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 2,587 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 692 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 211 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त मरीज एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी 98.12 प्रतिशत से अधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 181 तथा अब तक 5,91,194 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4561 लोग तथा अब तक कुल 5,26,536 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,85,324 क्षेत्रों में 5,11,484 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,65,852 घरों के 15,28,02,203 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि आज वैक्सीन की डोज फ्रट लाइन कर्मियों को लगायी जा रही है। छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों को एक और मौका देते हुए कल 19 फरवरी को वैक्सीनेशन लगाने का कार्य किया जायेगा। इसी दौरान 22 फरवरी, को फ्रंट लाइन कर्मियों को वैक्सीन लगाने का कार्य किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश 10 लाख से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंट लाइन कर्मियों के वैक्सीनेशन का कार्य करने वाला देश में पहला राज्य है। उन्होंने बताया कि ‘मेरा कोविड केन्द्र’ ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा 05 किलोमीटर के दायरे में स्थित कोविड-19 जांच केन्द्र की जानकारी प्राप्त की जा सकती है तथा जांच का परिणाम डीजी एमएचयूपी वेबसाइट पर स्मार्ट फोन के माध्यम से जाना जा सकता है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *