श्रम कानूनों में बदलाव का देशभर में विरोध करेंगे श्रमिक संगठन

 

रायपुर। केंद्र सरकार के श्रम कानूनों का श्रमिक संगठन देशभर में विरोध करेंगे। भारतीय राष्ट्रीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाक्‍टर संजीवा रेड्डी ने कहा कि इसके लिए सभी श्रमिक संगठनों की एक समन्वय समिति बनाई गई है। दिल्ली में महीनेभर तक लगातार आंदोलन किया जाएगा।

रायपुर में आयोजित इंटक के राज्य अधिवेशन व 36वीं कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे रेड्डी ने केंद्रीय कृषि कानून को लेकर चल रहे किसानों के आंदोलन का समर्थन किया। कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए रेड्डी ने कहा कि किसानों के आंदोलन को देशभर के मजदूर संगठन भी समर्थन दे रहे हैं।

आने वाले समय में सभी मजदूर संगठन एकजुट होकर आंदोलन करने पर भी विचार कर रहे हैं। इस कार्यक्रम कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, गिरीश देवांगन, शैलेष नितिन त्रिवेदी भी शामिल हुए। राजस्व मंत्री अग्रवाल ने इंटक के कामों की सराहना की।

उन्होंने कहा कि प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर मजदूरों के हित में प्रबंधन और सरकार के समक्ष उनकी आवाज को बुलंद करने और उनके हक में अनेक कल्याणकारी कार्यों को लागू करवाने का कार्य इंटक ने बखूबी किया है। इंटक के प्रदेश अध्यक्ष संजय सिंह ने प्रदेश में श्रमिक हितों के लिए किए जा रहे कार्यों के लिए प्रदेश सरकार की तारीफ की।

कार्यक्रम में इंटक के महामंत्री केएस मूर्ति और उपाध्यक्ष समीर पांडेय समेत अन्य पदाधिकार भी शामिल हुए। बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इंटक की सदस्यता 14 लाख से बढ़ा कर 25 लाख करने, असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों की जोड़ने, निजीकरण के विरुद्ध मजदूरों की आवाज बुलंद करने के निर्देश दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *