जिला विज्ञान पहेली प्रतियोगिता में कृष्णा पब्लिक स्कूल के छात्रों ने दिखाया उत्कृष्ट प्रदर्शन

 

रायपुर। कृष्णा पब्लिक स्कूल कमल विहार, डूंडा ने जिला स्तरीय विज्ञान पहेली प्रतियोगिता में चयनित होकर एक और उपलब्धि अपनी सूचि में जोड़ ली है। हाल ही में आयोजित 17 जनवरी 2021 के एक कार्यक्रम में केपीएस के पांच छात्रों ने ‘विज्ञान पहेली’ प्रतियोगिता में क्षेत्रीय स्तर पर शीर्ष 20 में अपना स्थान हासिल किया है। विज्ञान पहेली प्रतियोगिता ज्ञान और मस्तिष्क शक्ति को प्रोत्साहित करने के लिए एक स्वस्थ प्रतियोगिता है, जिसमें नौंवीं से 10वीं के छात्रों के लिए अंग्रेजी और हिंदी दोनों माध्यमों के छात्रों को प्रतिस्पर्धा में भाग लेने का मौका दिया जाता है।

लगातार छठवें साल केपीएस डुंडा के बच्चों ने बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया है। साल 2015 से कुल मिलाकर 60 छात्रों का विज्ञान पहली में चयन हुआ है। सीनियर्स की विरासत को बनाए रखते हुए इस साल केपीएस डुंडा से 10वीं कक्षा के और पांच छात्रों को अगले दौर के लिए चुना गया है, जिनमें क्षितिज सोलंकी, शन्यु सोनी, भूपेश कुमार रजक, शशवत धुरंधर और विराट विजय कुमार लिल्हारे हैं।

विज्ञान पहेली प्रतियोगिता तीन चरण में आयोजित होती है, जिसमें जिला स्तरीय प्रथम चरण, जोन स्तरीय दूसरे चरण में तथा तीसरे चरण में राज्य स्तरीय प्रतियोगिता होती है। मेरिट के आधार पर पहले राउंड से अधिकतम 20 छात्रों का चयन किया जाता है, फिर दूसरे से 10 छात्रों का चयन किया जाएगा और केवल दो मेधावी छात्रों को अंतिम राउंड में प्रतिस्पर्धा करने का अवसर मिलेगा।

केपीएस के छात्र समर्पित, बुद्धिमान और कड़ी मेहनत करने वाले हैं, जिसके लिए उन्होंने रायपुर के विभिन्न स्कूलों के बीच उत्कृष्ट प्रदर्शन किया और 75 बहुविकल्पीय सवालों को डेढ़ घंटे की समय सीमा में पूरा किया। इस परीक्षा में पूछे जाने वाले 75 सवालों के पाठ्यक्रम में राज्य के सभी मान्यता प्राप्त बोर्डों से 10वीं कक्षा तक भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान के सवाल शामिल थे।

छात्रों के इस उत्कृष्ट प्रदर्शन से स्कूल के अध्यापक और बच्चों के माता-पिता अत्यंत खुश हैं और उन्हें आगे की बेहतर तैयारी करवाने के लिए तत्पर हैं। स्कूल संस्था का उद्देश्य अपने छात्रों को ऐसी प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए सर्वोत्तम सुविधाएं प्रदान करना है। छात्रों को उनके कौशल को बेहतर ढंग से सीखाने, समझाने और बढ़ाने के लिए प्रशासन ने पहले से ही एटीएल लैब की स्थापना की है और वे कक्षा छठवीं से ये सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास करते हैं। प्राचार्या प्रियंका त्रिपाठी योग्य छात्रों के लिए खुश हैं और उन्होंने छात्रों को अगले राउंड के लिए शुभकामनाएं दी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *