कोदो-कुटकी और रागी की समर्थन मूल्य पर होगी खरीदी

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में गुरुवार को विधानसभा के मुख्य समिति कक्ष में मंत्रिपरिषद की बैठक हुई। इसमें प्रदेश के अनुसूचित क्षेत्र में कोदो-कुटकी और रागी को समर्थन मूल्य पर खरीदी करने का निर्णय लिया गया। छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा निर्मित आयुर्वेद दवाओं, हर्बल उत्पादों और लघु वनोपज के प्रसंस्करण से प्राप्त प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थो के शासकीय विभाग खरीदेंगे। राज्य लघु वनोपज संघ के पास उत्पाद उपलब्ध नहीं होने की स्थिति में शासकीय विभाग संघ से अनापत्ति प्राप्त कर उन उत्पादों की खरीदी बाजार से करेगा।

वनोपज संघ स्वयं अथवा पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के माध्यम से निर्मित उत्पादों के संबंध में छत्तीसगढ़ भंडार क्रय नियम के प्रावधान के अनुसार निविदा आमंत्रण को शिथिल करने का निर्णय लिया गया। विक्रय मूल्य के निर्धारण के लिए अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की अध्यक्षता में छह सदस्यीय समिति के गठन का भी निर्णय लिया गया।

बैठक में छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जनरेशन कंपनी लिमिटेड के कोरबा में स्थापित 120 मेगावाट क्षमता की दोनों इकाईयों को बंद करने का कंपनी के संचालक मंडल के फैसले का अनुसमर्थन किया गया। पावर प्लांट को बंद करने के फलस्वरूप उपलब्ध रिक्त भूमि के वैकल्पिक उपयोग पर निर्णय के लिए ऊर्जा विभाग को अधिकृत किया गया है। छत्तीसगढ़ विद्युत शुल्क (संशोधन) अधिनियम 2021 के प्रारूप का भी अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग का 19वां वार्षिक प्रतिवेदन (एक अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020) विधानसभा के पटल में रखने का अनुमोदन किया गया। लघु वनोपज के परिवहन में टीपी नियम को शिथिल करने का निर्णय लिया गया। इसके तहत राज्य सरकार द्वारा काष्ठ, खनिज, वन्य जीव उत्पाद तथा तेंदूपत्ता को छोड़कर समस्त अविनिर्दिष्ट लघु वनोपजों को यह छूट दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *