शहीद जवानों को दी भावभीनी श्रद्धांजलि#

 

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ में बस्तर संभाग के नारायणपुर जिले में नक्सल उन्मूलन अभियान के दौरान बुधवार को हुई नक्सली घटना में शहीद हुए जवानों को पुलिस लाइन में भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। आइटीबीपी के एल बालूचामी बेचा के पास पाइप बम की जद में आने से शहीद हो गए। वहीं डीआरजी के कनेर उसेंडी अबूझमाड़ के काकुर गांव में नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए है, जिन्हें गुरुवार को कुम्हारपारा के रक्षति केंद्र में बस्तर आईजी पी सुंदरराज, कलेक्टर धर्मेश साहू, एसपी मोहित गर्ग के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित जिला बल और अर्धसैनिक बल के जवानों ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी

इस दौरान शहीद जवान कनेर उसेंडी की पत्नी व माता सहित स्वजनों की मौजूदगी रही। आइटीबीपी के शहीद जवान के शव को गृह ग्राम तमिलनाडु के मदुराई व कनेर उसेंडी को जिले के धनोरा ससम्मान भेजा गया। वही बस्तर आइजी पी सुंदरराज ने कहा कि अबूझमाड़ के घने जंगलों में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ जारी है। फोर्स की वापसी नहीं हुई है। गुरुवार को नक्सली मुठभेड़ में एक जवान शत्रु्रन घायल हुए है। जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।न

नक्सलियोंके सात कैंप ध्वस्त कर लौटे जवानइ  इधरनारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में बड़े नक्सली लीडरों की मौजूदगी की खबर पर छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के सीमावर्ती इलाकों में तीन दिनों तक आपरेशन संगम चलाया गया, जिसमें बड़ी मात्रा में नक्सली सामग्री बरामद किया गया। नारायणपुर-कांकेर और गढ़चिरौली के सरहदी क्षेत्र में अभियान के दौरान अलग-अलग क्षेत्र में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई। सुरक्षाबलों ने सात माओवादी कैंपों को ध्वस्त किया गया।

अभियान के दौरान डीआरजी का जवान कनेर उसेंडी शहीद हुए हैं। वहीं एक जवान घायल हुआ है, जिसका उपचार जिला अस्पताल में किया जा रहा है। एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि ध्वस्त किए कैंप से बड़ी मात्रा में नक्सल सामग्री, विस्फोटक पदार्थ, कैंप सामग्री बरामद की गई है उक्त मुठभेड़ में कुछ माओवादियों के मारे जाने और घायल होने की संभावना पुलिस जता रही है।

गौरतलब है कि मंगलवार को नारायणपुर एवं कांकेर से डीआरजी, एसटीएफ, बीएसएफ और आइटीबीपी की संयुक्त टीम्रसर्चिंग पर रवाना की गई थी। सर्चिंग के दौरान ग्राम बरमटोला, कुदुलपाड़, कुम्मचलमेटा, टेकमेटा और कुकुर गांव के जंगल-पहाड़ी में माओवादियों के कैंप की घेराबंदी के दौरान पुलिस-नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई जिसके बाद नक्सली भाग खड़े हुए। मौके पर माओवादियों की सात कैंप को ध्वस्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *