सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पेंशनर्स संघो ने हर्ष जताया: सरकार जानबूझकर वेतन और पेंशन भुगतान में देरी करने की आदत पर अब लगेगी रोक

रायपुर, 26 फरवरी। भारतीय राज्य पेंशनर्स महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री,छत्तीसगढ़ राज्य सँयुक्त पेंशनर फेडरेशन के अध्यक्ष तथा छत्तीसगढ़ राज्य कर्मचारी कर्मचारी संघ के पूर्व प्रांताध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा आंध्र प्रदेश के एक प्रकरण पर दिए गए आदेश पर खुशी जाहिर किया है, जिसमे सरकार द्वारा वेतन अथवा पेंशन के भुगतान में देरी होने की स्थिति में वेतन पर 12%और पेंशन में 6% प्रतिशत के दर से ब्याज का भुगतान करने को निर्णय दिया हैं,सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक आदेश से राज्य सरकारों द्वारा बिना किसी उचित कारण के जानबूझकर कर वेतन और पेंशन के भुगतान पर की जाने वाली अनावश्यक विलंब करने की आदत पर अब रोक लगेगी और इस महत्वपूर्ण आदेश से कर्मचारियों और पेंशनरों को राहत मिलेगी।
छत्तीसगढ़ राज्य सँयुक्त पेंशनर फेडरेशन के अध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव और फेडरेशन से जुड़े संगठन क्रमशः भारतीय राज्य पेंशनर्स महासंघ के प्रांताध्यक्ष जे पी मिश्रा, पेंशनर्स एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष यसवंत देवान, छत्तीसगढ़ प्रगतिशील पेंशनर्स कल्याण संघ के प्रांताध्यक्ष आर पी शर्मा, तथा आर सी पटेरिया ,गंगाप्रसाद साहू , सी एस पांडेय,डॉ पी आर धृतलहरे, लोचन पांडेय, डॉ वाई सी शर्मा,विद्या देवी साहू , यू के चौरसिया,डी के त्रिपाठी, सी एल दुबे,शरद अग्रवाल,गायत्री गोस्वामी, जे पी धुरन्धर, डॉ एस पी वैश्य, उर्मिला शुक्ला, ज्ञानचंद पारपियानी,बी डी उपाध्याय, राकेश श्री वास्तव, एन एच खान,द्रोपदी यादव,डॉ एस पी वैश्य,आर के नारद, एस पी एस श्रीवास्तव, विष्णु तिवारी,शांति किशोर माझी ,कलावती पाण्डे,सी एल चन्द्रवंशी, इंदु तिवारी,तीरथ यादव,रमेश नन्दे, प्रदीप सोनी,,असीमा कुंडू , आशा वैष्णव,पी एल टण्डन,रोजलिया लकड़ा,एल एन साहू,अशोक जैन,राजेश्वर राव भोसले,वन्दना दत्ता,अनुप योगी,गिरीश उपाध्याय,अनिल दुबे,आलोक पांडेय,व्ही एस जादौन,बी एल पटले,,बी डी यादव,आनन्द भदौरिया,बी के सिन्हा, एस डी बंजारे,गुलाब राव पवार,भूषण लाल देवांगन, खेमिचन्द मिश्रा,एस के चिलमवार,बिक्रम लाल साहू, एस डी वैष्णव,हीरालाल नामदेव,अजीत गुप्ता,द्वारका सिन्हा,ओ पी भट्ट,रामकुमार थवाईत,एस डी वैष्णव आदि ने भी सुप्रीम कोर्ट के इस जन हितकारी ऐतिहासिक निर्णय का स्वागत किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *