ग्रामीण क्षेत्रों में लगेगा घरेलू नल कनेक्शन, मिलेगा साफ पानी

 

रायपुर। रायपुर के ग्रामीण इलकों में रहने वालों को भी शुध्द पानी मुहैया कराने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली हैै। गर्मी शुरू होते ही प्रशासन सक्रिय हो गया हैै। घरेलू नल कनेक्‍शन का सर्वे किया जाएगा। जल-जीवन मिशन के अंतर्गत गठित जिला जल और स्वच्छता मिशन के तहत सर्वे का कार्य एक सप्ताह के भीतर किया जाएगा। सर्वे के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है।

पानी की आपूर्ति के लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण कर प्रत्येक ग्रामीण परिवार को पर्याप्त मात्रा में पानी नियमित रूप से उपलब्ध कराना है। बुनियादी ढांचे के विकास को तीन चरणों में पूर्ण किया जाना है। कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने कहा कि जल-जीवन मिशन के अंतर्गत पानी की निरंतर पूर्ति के लिए पेयजल स्रोतों का विकास और मौजूदा स्रोतों का संवर्धन किया जाना है।

पहले से स्थापित ग्रामीण क्षेत्रों की जल गुणवत्ता की निगरानी के लिए प्रयोगशाला की सुविधा का उपयोग किया जाएगा। ऐसी जगह जहां पानी की गुणवत्ता में कमी हो, वहां दूषित पदार्थो को हटाने केे लिए उपचार संयंत्र भी लगाया जाना है। पानी की गुणवत्ता की निगरानी ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी होगी।

जिला जल-जीवन मिशन के तहत गांवों में ग्राम जल और स्वच्छता समिति का गठन किया जाएगा। इस समिति में 10 से 15 सदस्य शामिल हो सकेंगे। इस मिशन के तहत मौजूदा स्रोत से किसी एक गांव अथवा अधिक गांव को पानी की आपूर्ति की योजना बनाई जा सकती है।

तएसएन.भोयर ने बताया कि जिले में रेट्रोफींटिंग के 51 तथा 54 गांवों में सोलर योजना के निविदा हेतु सहमति दी गई है। इसमें लगभग 55 करोड़ रुपये की लागत से 17 हजार घरेलू कनेक्शन दिया जाएगा।

बैठक में लगभग 56 करोड़ 34 लाख रुपये की लागत से 56 योजना के स्वीकृति के लिए सहमति दी गई। इस सहमति के बाद विभिन्न गांवों के लगभग 20 हजार घरों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा सकेगा। इस तरह कुल 37 हजार कनेक्शन दिया जाएगा। इस अवसर पर डीएफओ विश्वेश कुमार सहित जल-जीवन मिशन के तहत गठित समिति के समस्त सदस्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *