अंधे कत्ल की गुत्थी गरियाबंद पुलिस ने सुलझाई : ब्लैकमेल से बचने, हत्या कांड को दिया अंजाम

गरियाबंद । पर्यटन स्थल चिंगरापगार ( बारूका ) के जंगल में हुई महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी गरियाबंद पुलिस ने सुलझाई ली है।कत्ल का कारण अवैध सम्बन्धो में धोका कर वसूली का था । महिला द्वारा सम्बधों के बदले रुपयो की मांग की जा रही थी जिससे तंग आकर आरोपी ने अपनी पत्नी और साले के साथ मिलकर महिला की हत्या को अंजाम दिया । इस हत्या कांड में पुरुषोत्तम साहू पिता खिलावन साहू उम्र 32 साल निवासी ग्राम बेलौद थाना मगरलोड जिला धमतरी ,उसकी पत्नी धनेश्वरी साहू पति पुरुषोत्तम साहू उम्र 30 साल निवासी ग्राम बेलौदी थाना मगरलोड जिला धमतरी. डेढ साला लक्ष्मण साहू पिता पुरन साहू उम्र 31 साल निवासी कोपरा , भांठापारा जिला गरियाबंद को आरोपी बनाया गया है । उल्लेखनीय है कि 30 दिसम्बर को चिंगरापगार में महिला की लाश मिली थी जिसकी हत्या सब्जी काटने के चाकू से गला रेत कर की गई थी । चुकी की पुलिस को मौके पर महिला की पहचान सम्बधी कुछ भी नही मिला सो पुलिस ने इसे अज्ञात महिला की लाश समझ के शिनाख्ती शुरू की ।

पुलिस के पास केवल महिला के हाथ मे अंकित ममता नाम के सहारे खोज बिन चली पता चला कि यह ग्राम बेलौदी थाना मगरलोड की ममता साहू है ग्राम बेलोदी के आस – पास गरियाबंद पुलिस ने डेरा डाल कर गांव के आरोपी युवक के साथ मृतिका के अवैध सम्बंध का पता लगाया । आरोपी विवाहित युवक व मृतिका के अवैध सम्बंध को लेकर देती थी धमकी और किया करती थी ब्लैकमेल , जिनसे तंग आकर आरोपी ने रची हत्या की साजिश । पुलिस से बचने अनजान क्षेत्र एवं दूसरे जिले में जाकर दिया घटना को अंजाम । साक्ष्य छुपाने सेनेटाईजर छिडक़ कर जलाने का किया था प्रयास ।

आरोपी युवक अपने पत्नी एवं डेढसाला के साथ मिलकर किया हत्या । आरोपी की निशानदेही से मोटरसायकल , मोबाईल , खून लगा कपड़ा , जूता , मृतिका का पर्स , मोबाईल किया गया जप्त । पुलिस कप्तान भोजराम पटेल ने किया थाना कोतवाली की टीम को 5,000 रूपये से पुरस्कृत किया गया ।
हत्या के बाद इसकी पतासाजी में जुटे थाना प्रभारी सिटी कोतवाली गरियाबंद निरीक्षक वेदवती दरियो ,साथ – साथ , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर , उप पुलिस अधीक्षक टीआर कवर तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस गरियाबंद संजय ध्रुव सहित उनकी टीम ने खोज निकालते हुए ,आरोपी को भी खोज निकाला , आरोपी के खिलाफ अपराध क्रमांक 292/2020 धारा 302 , 201 भादवि का मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया । गरियाबंद पुलिस के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती समय रहते महिला की पहचान कार्यवाही करना था । इसलिए सभी सोशल मिडिया प्लेटफार्म में मृतिका की सूचना प्रसारित करवाया गया जिसके आधार पर ग्राम बेलौदी थाना मगरलोड जिला धमतरी निवासी ईश्वर साडू के द्वारा मृतिका को अपनी पत्नी ममता साहू के रूप में पहचान की गई ।

महिला की पहचान होते ही पुलिस मृत्यु के कारणों का पता लगाने के लिए गरियाबंद पुलिस अलग अलग टीम बनाकर ग्राम बेलौदी तथा आस – पास खोज खबर लेकर संदिग्धों की गतिविधि पर नजर रख रही थी तथा सभी पहलुओं पर बारिकी से जांच कर रही थी । जिसके परिणाम स्वरूप यह ज्ञात हुआ कि मृत्तिका ममता साहू का गांव के पुरुषोत्तम साहू के साथ विगत 1 वर्ष से अवैध सम्बंध था । जिसके आधार पर गुरुपोत्तम साहू से बारीकी से सिलसिलेवार पुछताछ करने पर जुर्म स्वीकार किया । गाँव के ममता साहू के द्वारा अवैध सम्बंध होने के एवज में लगातार रूपये पैसे गहने की मांग करने लगी तथा युवक के द्वारा नहीं देने पर समाज में बदनाम करने व पुलिस में जाने की देने लगी । लैकमेल से तंग आकर आरोपी पुरुषोत्तम साहू अपनी पत्नी धनेश्वरी साहू को पुरे मामले की जानकारी दिया जिसके बाद दोनों पति पत्नी ने ममता साहू को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनाया और उसी योजना के तहत् दिनांक 29 दिसम्बर को पुरुषोत्तम साहू द्वारा ममता साहू को चिंगरापगार जिला गरियाबंद घुमने जाने के लिए राजी किया तथा अपनी पत्नी धनेश्वरी साहू को अपने डेढसाला लक्ष्मण साहू निवासी कोपरा के साथ चिंगरापगार जंगल बुलाया जिसके बाद पुरुषोत्तम साहू , धनेश्वरी साहू तथा लक्ष्मण साहू योजना के मुताबिक ममता साहू को पकडक़र जमीन में पटक दिया जिसके बाद मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम साहू मृतिका के सीने में बैठकर तथा लक्ष्मण साहू मृतिका के मुंह व सिर को दबाकर पकड़ा था तथा आरोपिया धनेश्वरी साहू मृतिका के पैर को दबाकर पकड़ी थी इसी दौरान मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम साहू पास में रखे धारदार चाकु से मृतिका के गले को रेतकर तथा घोंपकर हत्या कर दिया जिसके बाद मृतिका की पहचान छुपाने के लिए सैनेटाईजर को मृतिका के चेहरा , सिर तथा कपड़ों में डालकर माचिस मारकर जलाया है । जिसके बाद तीनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया । पुलिस अधीक्षक गरियाबंद भोजराम पटेल ने बताया कि पुलिस की सूझबूझ से अज्ञात महिला के अंधे कत्ल का पर्दाफाश किया गया है । मृतिका अज्ञात एवं आरोपी अज्ञात होने से पुलिस के सामने चुनौती आयी थी जिसे तत्परता से सुलझाया गया । उपरोक्त कार्यवाही में सउनि अजय सिंह , प्र.आर.डिगेश्वर साहू , आर.मनीष चेलकर , रविशंकर सोनवानी एवं सायबर क्राईम स्टाफ प्र.आर.अंगद राव , आर. सुशील पाठक , सतीश यादव की सराहनीय भूमिका रही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *